वैज्ञानिकों का दावा नहीं‌ पिघल रही है अंटार्कटिका में ग्लेशियर, 1.4 करोड़ वर्ष पुरानी जमी है बर्फ - शब्दबाण

शब्दबाण

सकारात्मकता का संदेशवाहक सबसे तेज ! सबसे आगे !


Thursday, 5 October 2017

वैज्ञानिकों का दावा नहीं‌ पिघल रही है अंटार्कटिका में ग्लेशियर, 1.4 करोड़ वर्ष पुरानी जमी है बर्फ


वैज्ञानिकों ने एक नवीन तकनीक का प्रयोग कर अंटार्कटिका की झील पर जमी पुरानी बर्फ के जमने के समय का पता लगाया है। वैज्ञानिक के अनुसार यह बर्फ की चादर 1.4 करोड़ वर्ष पुरानी है। यह शोध उस धारणा का समर्थन करता है जिसके अनुसार 30-50  लाख वर्ष पहले व्लायोसीन (अति नूतन काल) युग के दौरान बर्फ की यह चादर बड़े स्तर पर नहीं पिघली थी। जब्कि वैज्ञानिकों के अनुसार कार्बन-डाईआक्साइड की सांद्रता आज के ही समान थी। अमेरिका के 'पेन्सिलवेनिया युनीवर्सिटी' के सहायक प्रोफेसर
जेन विलिनब्रिंग का कहना है-: व्लायोसीन युग की तुलना कभी-कभी उस धारणा से की जाती है जहाँ ग्लोबल वार्मिंग के लगातार बढ़ने पर पृथ्वी मे होनें वाले बड़ी प्राकृतिक धटनाओं के बारे में सोचते है।

विलनब्रिंग के अनुसार यह शोध हमारी उम्मीद को बल देता है जहाँ पूर्वी अंटार्कटिका की बर्फ की चादर वर्तमान और भविष्य के मौसमों के अनुसार टिकी रह सकती है। कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि यह बर्फ की चादर व्लायोसीन युग के दौरान कुछ स्थितियों म पिघली थी। वहीं कुछ वैज्ञानिकों‌ का मानना है कि यह चादर पूरी तरह से 1.4 करोड़ सालों से जमी है।

इस नयी तकनीक की सहायत से वैज्ञानिक झील के उन विभिन्न पदार्थों के आयु का आकलन कर पाए हैं। इन पदार्थों की आयु 1.4 करोड़ वर्ष से 1.75 ,वर्ष के करीब है। विलिनिबर्ग कहते हैं कि इसका मतलब है कि यह पदार्थ उस समय की तुलना में काफी प्राचीन हैं जहां लोग यह सोच रहे हैं‌ कि अंटार्कटिका पर ग्लेशियर कम हो रहे हैं। इससे सिद्ध होता है अंटार्कटिका में ग्लेशियरों के पिघलने कि जो धारणाएं सामने आ रही है, वो पूरी तरह प्रमाणिक नहीं है।

No comments:

Post a Comment