दुबारा सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गये अखिलेश यादव - शब्दबाण

शब्दबाण

सकारात्मकता का संदेशवाहक सबसे तेज ! सबसे आगे !


Thursday, 5 October 2017

दुबारा सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गये अखिलेश यादव





ताजनगरी आगरा में सपा के हो रहे 10 वे राष्ट्रीय अधिवेशन में एक बार फिर से अखिलेश यादव को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कि  कमान सर्वसम्मति से सौंप दी गयी।
अखिलेश यादव को दुबारा दल का अध्यक्ष चुना गया है।
आगरा के तारघर मैदान में चल रहे अधिवेशन में सिर्फ अखिलेश की तरफ से ही नामांकन हुआ था। प्रस्तावकों के अनुमोदन पर निर्वाचन अधिकारी डॉ. रामगोपाल यादव ने इसकी घोषणा की। इसके साथ ही सभी अटकलों पर विराम लग गया।

सबसे पहले पार्टी के झंडा फहराया गया। इसके बाद पार्टी के शीर्ष नेता किरनमय नंदा सहित लगभग 25 प्रस्तावकों के समक्ष अखिलेश यादव ने नामांकन भरा। अधिवेशन में उनके अलावा एक भी नामांकन नहीं आया। इस पर सभी प्रस्तावकों ने उसका अनुमोदन किया।
धोषणा के अंतिम समय तक यह अटकलें लगायी जा रहा थी कि एक बार फिर से मुलायम सिंह यादव को पार्टी का राष्ट्रीय बनाया जा सकता है।

लेकिन राष्ट्रीय अध्यक्ष की धोषणा के साथ ही सभी प्रकार की अटकलों पर विराम लग गया अब अगले पाँच सालों तक अखिलेश यादव पार्टी के अध्यक्ष बने रहेंगे।
प्रों रामगोपाल यादव ने धोषणा करते हुए कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव और 2022 के विधानसभा चुनाव अखिलेश यादव के नेतृत्व में ही लड़े जायेंगे।


अखिलेश यादव आगरा एक्सप्रेस वे से मंगलवार शाम सैफई पहुंचे थे, धर्मेन्द्र यादव और अंशुल यादव बुधार सुबह आवास पर पहुंचे जिसके बाद चारों युवा नेताओं ने कई घंटे तक मंत्रणा की। पूरी वार्ता को वैसे तो गुप्त रखा गया है लेकिन जो बातें छन कर सामने आयीं उसके अनुसार मुलायम सिंह यादव कार्यसमिति में आने को राजी हो गए हैं, परिवारिक सूत्रों के अनुसार अखिलेश यादव ने फोन पर चाचा शिवपाल यादव से भी बात की है और उनके भी कार्यसमिति में पहुंचने की उम्मीद है। परिवार के लोगों का कहना है कि सब कुछ ठीक रहा तो कार्यसमिति के बाद फिर से पूरी पार्टी एक हो जाएगी, इसका क्या फार्मूला होगा यह भी तय हो चुका है।



राष्ट्रीय अध्यक्ष बनते ही अखिलेश यादव ने भाजपा पर साधा निशाना

दिखावे और धरातल से अलग कार्य करने वाली पार्टी बताते हुए अखिलेश यादव ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा यादव ने कहा कि भाजपा की पोल आने वाले लोकसभा चुनावों में खुल जायेगी। आने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनावों में जनता हिसाब मागेगी। उन्होने कार्यकर्ताओं से एकजुट होकर आने वाले चुनावों‌ की तैयारी में जुट जाने को कहा। 



व्यापारी और किसान दोनों परेशान

अखिलेश यादव ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य की नीतियों से जनता त्रस्त हो गयी है किसानों को मुआवजे के तौर पर खाली हाथ लौटा दिया गया। वही जीएसटी और नोटबंदी ने देश के विकास की गति को थाम दिया है।
इस मौके पर पूर्व मंत्री आजम ख़ान, प्रो. रामगोपाल यादव सांसद धर्मेन्द्र यादव, नरेश अग्रवाल, पूर्व मंत्री एस पी यादव सपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य डा. अशोक गुत्ता,  प्रदेश महासचिव यूथ अनुराग यादव, जिला महासचिव यूथ शेख शहनवाज व अन्य मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment